पोषण माह कार्यक्रम के अन्तर्गत पटना खरगौरा में स्वस्थ्य बालक-बालिका प्रतियोगिता का किया गया आयोजन
Shravasti UP

प्रदेश सरकार नवजात शिशुओं, बच्चों, गर्भवती, धात्री महिलाओं को स्वस्थ्य रखने हेतु है प्रतिबद्ध-जिलाधिकारी

श्रावस्ती, 22 सितम्बर, 2022 राष्ट्रीय पोषण माह के तहत आयोजित कार्यक्रमों के अन्तर्गत गुरूवार को स्वस्थ्य बालक-बालिका स्पर्धा का आयोजन ग्राम सभा पटना खरगौरा में किया गया, जिसका जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने फीता काटकर शुभारम्भ किया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सुपोषित जनपद की परिकल्पना को साकार करना है। कार्यक्रम में ग्राम सभा के स्वस्थ बालक-बालिकाओं के अभिभावकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने 25 बच्चों का स्वयं वजन किया। स्वस्थ बालक-बालिका प्रतियोगिता के आयोजन के पश्चात् जो बच्चें स्वस्थ एवं सुपोषित पाये गये, उन्हें जिलाधिकारी द्वारा स्वस्थ बच्चों को खिलौना एवं फलों का वितरण कर पुरस्कृत किया। 

       इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार नवजात शिशुओं/बच्चों/गर्भवती/ धात्री महिलाओं को स्वस्थ्य रखने हेतु प्रतिबद्ध है। इसी उद्देश्य से आई0सी0डी0एस0 विभाग द्वारा तमाम योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा के अन्तर्गत विभिन्न गतिविधियां आयोजित कर 05 वर्ष तक के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार लाना ही इसका मुख्य उद्देश्य है। उन्होने कहा कि नवजात शिशुओं, किशोरियों, गर्भवती महिलाओं एवं धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य का बेहतर रूप से ध्यान रखा जाए। कुपोषण को लेकर सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे है। एक-एक परिवार का सर्वे कर सैम व मैम बच्चों को चिह्नित किया जा रहा है। जो भी ऐसे बच्चे चिकित्सीय जटिलता वाले मिल रहे हैं उनको पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कर अच्छा इलाज दें। उन्होने कहा कि पोषाहार का वितरण समय से कराएं और गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाए।

       उन्होने यह भी बताया कि स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा के अन्तर्गत आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा बच्चों के अभिभावकों/परिवारिक सदस्यों को जागरूक किया जायेगा। स्वास्थ्य  विभाग के सहयोग से बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जायेगा। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों का वजन लेने के पश्चात् वजन, लम्बाई-ऊँचाई की फीडिंग पोषण ट्रैकर पर की जायेगी। सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों के टीकाकरण व अनुपूरक पोषाहार प्रदान किये जायेंगे। स्वस्थ बालक-बालिका स्पर्धा के आयोजन में स्थानीय संस्थाओं स्वयं सहायता समूहों, शैक्षिणिक संस्थाएं, यूथ क्लब, लायन्स क्लब, रोटरी क्लब, आशा, ए0एन0एम0, आई0एम0ए0 आदि का सहयोग लिया गया है। इस स्पर्धा को एक त्योहार/उत्सव के रूप में मनाकर समुदाय में स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धात्मक जागरूकता लायी जायेगी।

        इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी, सी0डी0पी0ओ0 नन्द लाल, प्रभारी चिकित्साधिकारी डा0 सत्य शरण, ग्राम प्रधान ममता पाण्डेय, ए0एन0एम0 श्वेता सिंह, आंगनवाड़ी कार्यकत्री मीरा देवी व उमा श्रीवास्तव, आशुतोष दुबे, अंजनी मिश्रा सहित स्वयं सहायता समूह की महिलाएं व ग्रामवासी उपस्थित रहे। 

        जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि इसी प्रकार जनपद के अन्य विकास खण्डों में भी मा0 जनप्रतिनिधिगणों एवं अधिकारीगणों की उपस्थिति में बालक-बालिका प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया गया।

YOUR REACTION?