कलेक्ट्रेट में निवर्तमान अपर जिलाधिकारी को दी गई भावभीनी विदाई
Shrawasti UP

श्रावस्ती, 22 सितम्बर, 2022 कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित निवर्तमान अपर जिलाधिकारी कमलेश चन्द्र के जनपद बस्ती स्थानान्तरण होने के अवसर पर उनके द्वारा जिले में दिये गये अतुलनीय योगदान के लिए सम्मान समारोह आयोजित कर उन्हें भावभीनी विदाई दी गई। सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने कहा कि किसी भी अधिकारी/कर्मचारी की पहचान उनके व्यक्तित्व एंव कर्तव्यनिष्ठा से ही जानी जाती है। स्थानान्तरित अपर जिलाधिकारी ने जो जिले के विकास में जो अपनी महती भूमिका निभाई है उसे कभी भुलाया नही जा सकता है। उन्होने कहा कि उनके द्वारा सीताद्वार झील का सौन्दर्यीकरण कार्य एवं विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 को शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने में सराहनीय योगदान रहा है। उन्होने कहा कि उन्हे जो भी दायित्व सौंपे जाते थे, वे बाख्ूाबी निभाते थे। उनके देखरेख में जो कार्य कराये जा रहे थे और अधूरे है, उनको समय से पूरा कराकर जनपद में चल रहे विकास के रथ को निरन्तर आगे बढ़ाया जाएगा। और जनपद के चहुंमुखी विकास के लिए विशेष प्रयास किये जायेगें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के महत्वपूर्ण अंग राजस्व, कानून व्यवस्था एवं विकास है यदि क्षेत्र में शान्ति व्यवस्था सुदृढ रहेगी तो निश्चित ही जनसहयोग से विकास का रथ निरन्तर आगे बढता रहेगा।

           निवर्तमान अपर जिलाधिकारी के कार्य व्यवहार की प्रशंसा करते हुए मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह ने कहा कि वह एक अच्छे व्यक्तित्व, नम्र एवं शान्त स्वभाव के व्यक्ति है। उन्होने कहा कि जिस प्रकार इनके द्वारा जिले के विकास में अपना योगदान दिया गया है, वह अतुलनीय है। इनके व्यक्तित्व को अगर सभी अधिकारी/कर्मचारी नियमित रूप से अमल करें, तो निश्चित ही उनकी भी कर्मठ अधिकारी के रूप मंे पहचान बनेगी क्योकि बेहतर कार्य से ही कोई भी अधिकारी/कर्मचारी अपने उच्च अधिकारियों से सम्मान पाकर वे अपने उच्चाधिकारियों के हृदय में प्रिय अधिकारी का स्थान ले सकते हैं।

 अपने सम्मान समारोह में अपर जिलाधिकारी ने संस्मरणों को साझा करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने संसाधनो से सन्तुष्ट रहना चाहिए और आज्ञापालन, श्रम व संतुष्टि से ही व्यक्ति प्रगति कर सकता है। सुविधाएं व्यक्ति को जीवन में धीरे-धीरे मिलती हैं। उन्होने श्रावस्ती में बिताए अपने सेवाकाल के अनुभवों को भी इस अवसर पर साझा करते हुए कहा कि इस जिले में विकास की बहुत संभावनाएं हैं लेकिन स्वास्थ्य व शिक्षा यहां के लोगों की पहली जरूरत है। उन्होने कहा कि कोई भी अधिकारी या कर्मचारी जिस भी पद पर तैनात है वह सरकार द्वारा दी गई जिम्मेदारियों को बाखूबी निभावें और गरीब मजलूमों को न्याय प्रदान करके उन्हे हरहाल में विश्वास दिलायें, यही सच्ची सेवा है।

       सम्मान समारोह के अवसर पर जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी न्यायिक एवं अपर पुलिस अधीक्षक ने स्थानान्तरित अपर जिलाधिकारी को स्मृति चिन्ह भेंटकर उन्हें सम्मानित किया। इस दौरान अपर जिलाधिकारी न्यायिक, अपर पुलिस अधीक्षक, सभी उपजिलाधिकारी एवं अधिकारीगणों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये और उनके उज्जवल भविष्य की कामना भी की।

      कार्यक्रम का संचालन अपर जिलाधिकारी के आशुलिपिक के0के0 वैश्य ने किया। 

      इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) कुंवर पंकज, अपर पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार यादव, उपजिलाधिकारी प्रवेन्द्र कुमार, उपजिलाधिकारी आर0पी0 चौधरी, उपजिलाधिकारी सौरभ शुक्ला, उपजिलाधिकारी रोहित, उपजिलाधिकारी आशुतोष, उपजिलाधिकारी प्रेम कुमार राय, अध्यक्ष नगर पालिका परिषद भिनगा अजय आर्या, परियोजना निदेशक इन्द्रपाल सिंह, उपनिदेशक कृषि कमल कटियार, वरिष्ठ कोषाधिकारी गिरीश कुमार, तहसीलदार भिनगा रामप्यारे, अधिसाशी अभियंता जल निगम एस0एम0 असजद, सहायक निदेशक मत्स्य सुरेश कुमार, जिला उद्यान अधिकारी दिनेश चौधरी, जिला सूचना अधिकारी शिवनाथ, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी छोटेलाल, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद भिनगा यदुनाथ, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी पंचायत/स्थानीय निकाय उमेश चरण आर्य, जिलाधिकारी के आशुलिपिक चन्द्रमौली श्रीवास्तव, जिला आपदा सलाहकार गफ्फार हुमायुं, आपदा विशेषज्ञ अरूण कुमार मिश्र, जिला शासकीय अधिवक्ता क्रमशः दिनेश चन्द्र पाण्डेय, श्रवण कुमार द्विवेदी, पूर्व शासकीय अधिवक्ता शिवपूजन सिंह, नाजिर अनूप तिवारी, ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर शरद श्रीवास्तव, प्रचार सहायक सुनील प्रियदर्शी, जिला पूर्ति कार्यालय के पूर्ति लिपिक राकेश सिंह सहित निर्वाचन, राजस्व, सूचना एवं कलेक्ट्रेट परिसर के अन्य अधिकारी/कर्मचारी गण मौजूद रहे।

YOUR REACTION?