हरियाणा में 37 पैसे प्रति यूनिट सस्ती हुई बिजली, मुख्यमंत्री ने की घोषणा     बिजली वितरण कंपनियों द्वारा अब से एफएसए नहीं लिया जाएगा
बिजली उपभोक्ताओं को लगभग 100 करोड़ रुपये प्रतिमाह की मिलेगी राहत

चंडीगढ़

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश में बिजली की दर 37 पैसे प्रति यूनिट सस्ती करने की घोषणा की है। 

एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि बेहतर योजना के कारण डिस्कॉम ने वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 46 पैसे प्रति यूनिट की औसत बिजली खरीद लागत में पर्याप्त कमी हासिल की है।  यह एचईआरसी द्वारा की गई एफएसए गणना में भी परिलक्षित हुआ है जहां एफएसए नकारात्मक है।  

लागत में कमी के इस लाभ को आगे उपभोक्ताओं को प्रदान करने के लिए, विशेष रूप से इस कोविड-19 महामारी के इस समय के दौरान हरियाणा सरकार ने अब से उपभोक्ताओं से लिए जा रहे 37 पैसे एफएसए को माफ करने का निर्णय लिया है। इससे बिजली उपभोक्ताओं को लगभग 100 करोड रुपये प्रतिमाह की राहत मिलेगी। 

उल्लेखनीय है कि कृषि उपभोक्ताओं के संबंध में एफएसए का बोझ पहले से ही राज्य सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है।

प्रवक्ता ने बताया कि हरियाणा सरकार ने राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर गुणवत्तापूर्ण बिजली उपलब्ध कराने का प्रयास किया है। पिछले कुछ वर्षों में हरियाणा बिजली वितरण कंपनियों का क्रियाकलाप बदला है और उनका उत्कृष्ट प्रदर्शन बिजली मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किए गए बिजली डिस्कॉम की एकीकृत रेटिंग में भी परिलक्षित होता है, जहां हरियाणा गुजरात के बाद दूसरे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य के रूप में उभरा है।

YOUR REACTION?